आशियाँ

जब शहरों को असुरक्षित महसूस किया जाता है, तब महिलायें आंकड़ों और पीड़ितों के रूप में दिखाई देती हैं। आशियाँ इस कथन को विभिन्न वर्गों की महिलाओं के अनुभव के माध्यम से चुनौती देता है। इन महिलाओं द्वारा किए गए घरेलू श्रम, फ़िल्मी श्रम, उनके रचनात्मक श्रम को आकार देते हैं । क्योंकि वे वार्तालाप स्थापित करती हैं, अपनी जीवनियाँ दर्शाते हैं और कभी कभी नाचते मोर दिखाते है!

आशियाँ का मतलब घोंसला, घर ... अपनी स्वयं की व्यक्तिगत दुनिया है। यह डॉक्यूमेंटरी दिल्ली की 'अदृश्य' महिलाओं के जीवन और अनुभवों का एक जीवित संग्रह है। यह कई आकार लेता है। एक इंटरैक्टिव मोबाइल ऐप के ज़रिए आप इन महिलाओं की असुरक्षित शहरी क्षेत्रों में रहने, चलने और अपनी राह बनाने की बातचीत में शामिल हो सकते हैं । एक ऑडियो-विज़ुअल गैलरी (चित्र और संवाद) के ज़रिये इन महिलाओं की उम्मीदों, यादों और आकांक्षाओं का अनुभव कर सकते हैं ।

भारत में फिल्मायी गयी यह डॉक्यूमेंटरी विभिन्न मीडिया (मोबाइल फ़ोन, इंटरनेट इत्यादि) के ज़रिये नई दिल्ली (भारत) में फ़िल्मकारों, स्वयंसेवकों, हैकर्स (कम्प्यूटर की दुनिया के जुगाड़ू) और मित्रों के सहयोग तथा रायरसन और यॉर्क विश्वविद्यालय (कैनडा); कोड फॉर बोस्टन (अमेरिका) और एम.आई.टी. की ओपन डॉक्यूमेंट्री लैब (अमेरिका) के सहयोग से बनी है।

आशियाँ से जुड़ी महिलाओं की कहानी जल्द आ रही है

Manorama & Pushpa
Reeta & Shahina
Sangeeta & Gurvinder
Deepa & Jaskeerat

यह इंटरैक्टिव फ़िल्म दिल्ली में रहने वाली घरेलु श्रमिकों और गृहणियों द्वारा सह-निर्मित की गयी है । आप उनकी जीवनियाँ जल्द ही यहाँ देख पाएंगे।

प्रोजेक्ट सम्बन्धी प्रश्न

मैं कैसे मदद कर सकती / सकता हूँ?

ऐप डाउनलोड करें और दूसरों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करें! #AashiyaanStories के साथ अपनी कहानियों और उपाय सब से बांटें।

मैं भी इस प्रोजेक्ट का हिस्सा बनना चाहती/चाहता हूँ ।

यदि आप एक डेवलपर, यूआई / यूएक्स डिजाइनर, अनुवादक, एनिमेटर या संपादक हैं तो idoc.conversations@gmail.com पर हमें ज़रूर लिखें ।

मैं बातचीत को बढ़ाना चाहती/चाहता हूँ!

आप जिस शहर में रहते हैं उसके अनुभवों के बारे में घरेलू श्रमिकों और गृहणियों के बीच अपने घर या आँगन में बातचीत आयोजित करें। इन से जुड़े वीडियो, फ़ोटो और टिप्पणियां हमें ज़रूर भेजें ।

हम प्रोजेक्ट से जुड़ी महिलाओं की कहानियां कब देख पाएंगे?

सह-निर्माताओं की जीवनियों से सम्बंधित जानकारी इसी वेबसाइट पर डाली जाएगी

मुझे महिलाओं से जुड़ी सुरक्षा सम्बन्धी जानकारी और कैसे मिल सकती है?

Idoc.conversations@gmail.com पर हमें लिखें और हम आपको इस विषय से जुड़ी संस्थाओं और उपायों के बारे में ईमेल करेंगे!